शिकायतें

दौलतें रईस बना गयी शिकायतों की जमाख़ोरी करते करते,
मुझे ख़ामोशी के धंधे में घाटे की आस हैं !

ज़िंदगी संजीदा बन गयी शिकायतों के पुर्ज़े संवारते संवारते,
मुझे खामोशी के बाज़ारों में लुटने की आस हैं…!!!

शिकायतें Shikayate Hindi Quotes Written By Priya Pandey

Shikayate

Daulate Raees Bana Gayi Shikayaton Ki Jamakhori Karte Karte,
Mujhe Khamoshi Ke Dhandhe Mein Ghate Ki Aas Hain !

Zindagi Sanjeeda Ban Gayi Shikayaton Ke Purze Sanwarate Sanwarate,
Mujhe Khamoshi Ke Bazaaron Mein Lutne Ki Aas Hain…!!!


Also Read This Poetry : निष्कर्ष

हसरतें

चंद हसरतों के तिनके लिए दर बदर भटक रहे हैं लोग,
यूँ हक़ीक़त ने हसरतों की बस्तियाँ जो उजाड़ दी !

चंद हसरतों की नज़दीकियों से बहक रहे हैं लोग,
यूँ हक़ीक़त ने हसरतों से दूरियाँ जो बढ़ा दी…!!!

हसरतें Hasrate Hindi Quotes Written By Priya Pandey

Hasrate

Chand Hasraton Ke Tinke Liye Dar Badar Bhatak Rahe Hain Log,
Yoon Haqeeqat Ne Hasraton Ki Bastiya Jo Ujaad Di !

Chand Hasraton Ki Nazdikiyon Se Behak Rahe Hain Log,
Yoon Haqeeqat Ne Hasraton Se Dooriyaan Jo Badha Di…!!!


Also Read This Poetry :