प्रतिशोध

जो कभी क्रोध में डूबे मूर्खता साथ लेते गए !
जो कभी प्रतिशोध में डूबे अयोग्यता साथ लेते गए ! 

जो कभी विरोध में डूबे निर्बलता साथ लेते गए !
जो कभी प्रतिशोध में डूबे पछतावा साथ लेते गए…!!!

प्रतिशोध Hindi Quotes Written By Priya Pandey

Pratishodh

Jo Kabhi Krodh Mein Doobe Murkhta Saath Lete Gaye !
Jo Kabhi Pratishodh Mein Doobe Ayogyata Saath Lete Gaye ! 

Jo Kabhi Virodh Mein Doobe Nirbalata Saath Lete Gaye !
Jo Kabhi Pratishodh Mein Doobe Pachhatawa Saath Lete Gaye…!!!


Also Read This Poetry : कन्यादान

कल

की हैं कल से गुज़ारिश की हम किसी के फ़िक्र में ना रहे !
बेहिसाब उड़ते रहे किसी के ज़िक्र में ना रहे !

बन कर फूल कल अपने ही उपवन में खिलते रहे !
कल की ही तैयारियों में आज से ही जुटते रहे…!!!

कल Hindi Quotes Written By Priya Pandey

Kal

Ki Hain Kal Se Guzaarish Ki Ham Kisi Ke Fikr Mein Na Rahe !
Behisaab Udte Rahe Kisi Ke Zikr Mein Na Rahe !

Ban Kar Phool Kal Apne Hi Upwan Mein Khilte Rahe !
Kal Ki Hi Taiyaariyon Mein Aaj Se Hi Jutate Rahe…!!!


Also Read This Poetry :