एकमात्र विकल्प

विरह की अग्नि में जलने का विकल्प मैंने दरकिनार किया है !
संकोच की अग्नि में जलने का विकल्प मैंने दरकिनार किया है !

अल्प की श्रेणी में रहने का विकल्प मैंने दरकिनार किया है !
चयन की श्रेणी में रहने का विकल्प मैंने दरकिनार किया है !

संकल्प की राह में चलने का मैंने प्रण लिया है !
उन्नति की राह में चलने का मैंने प्रण लिया है !

रास्तों की बाधा हटाने का मैंने एकमात्र चयन किया है !
दूसरों के लिए विकल्प ना बनने का मैंने एकमात्र चयन किया है !

दृढ़ संकल्प के रवैये को अपनाने का मैंने एकमात्र विकल्प चुना है !
बेहतर अवसर को निष्ठा से अपनाने का मैंने एकमात्र विकल्प चुना है !

अभिलाषाओं को प्राथमिकता देने का मैंने एकमात्र विकल्प चुना है !
विकल्पों की होड़ में ना रहने का मैंने एकमात्र विकल्प चुना है...!!!

एकमात्र विकल्प Ekmaatr Vikalp Hindi Thoughts By Priya Pandey

Ekmaatr Vikalp

Virah Ki Agni Mein Jalne Ka Vikalp Maine Darkinaar Kiya Hai !
Sankoch Ki Agni Mein Jalne Ka Vikalp Maine Darkinaar Kiya Hai ! 

Alp Ki Shredi Mein Rehne Ka Vikalp Maine Darkinaar Kiya Hai !
Chayan Ki Shredi Mein Rehne Ka Vikalp Maine Darkinaar Kiya Hai !

Sankalp Ki Raah Mein Chalne Ka Maine Pran Liya Hai !
Unnati Ki Raah Mein Chalne Ka Maine Pran Liya Hai !

Raasto Ki Badha Hatane Ka Maine Ekmaatr Chayan Kiya Hai !
Dusro Ke Liye Vikalp Na Banne Ka Maine Ekmaatr Chayan Kiya Hai !

Drudh Sankalp Ke Ravaiye Ko Apnane Ka Maine Ekmaatr Vikalp Chuna Hai !
Behtar Avsar Ko Nishtha Se Apnane Ka Maine Ekmaatr Vikalp Chuna Hai !

Abhilashao Ko Prathmikta Dene Ka Maine Ekmaatr Vikalp Chuna Hai !
Vikalpo Ki Hod Mein Na Rehne Ka Maine Ekmaatr Vikalp Chuna Hai...!!!


Also Read This Poetry :