बेरंग तस्वीर

बेरंग तस्वीर को भरने के लिए, हम रंगो से थोड़ी सियासत कर आए !
रंगो की नज़रों से बचाकर, हम उनसे कतरा कतरा रंग चुरा लाए !

रंगो के कारोबार में हम तिल तिल सराबोर हो आए !
बेरंग तस्वीरों को हम रंगो का बेचैन मुरीद बना आए !

बेरंग तस्वीरों से बेरंग होने की हम सारी लतें छुड़वा आए !
बेरंग तस्वीरों को रंगीन करने की हम सारी हदें भूल आए !

रूठी बेरंग तस्वीरों को हम रंगो की शरारतों में डुबा आए !
बेरंग तस्वीरों के भीतर से हम खूबसूरत चरित्र ढूँढ लाए !

बेरंग तस्वीरों में रंग भरकर, हम उनको रंगीन छवि दे आए !
बेरंग तस्वीरों को कुछ इस तरह, हम अपना तलबगार बना आए...!!!

बेरंग तस्वीर Berang Tasveer Hindi Poetry By Priya Pandey

Berang Tasveer

Berang Tasveer Ko Bharne Ke Liye, Ham Rango Se Thodi Siyasat Kar Aaye !
Rango Ki Nazaro Se Bachakar, Ham Unse Katra Katra Rang Chura Laye !

Rango Ke Karobar Mein Ham Til Til Sarabor Ho Aaye !
Berang Tasveero Ko Ham Rango Ka Bechain Mureed Bana Aaye !

Berang Tasveero Se Berang Hone Ki Ham Saari Late Chhudva Aaye !
Berang Tasveero Ko Rangeen Karne Ki Ham Saari Hade Bhool Aaye !

Ruthi Berang Tasveero Ko Ham Rango Ki Shararto Mein Duba Aaye !
Berang Tasveero Ke Bheetar Se Ham Khubsurat Charitra Dhundh Laye !

Berang Tasveero Mein Rang Bharkar, Ham Unko Rangeen Chavi De Aaye ! Berang Tasveero Ko Kuch Is Tarah, Ham Apna Talabgaar Bana Aaye...!!!


Also Read This Poetry :