सदैव अनंत है शिवम्

 वृषभ सवार शिव शिवम् सदैव अनंत है शिवम्!

ऊँचे सवार पर्वत शिवम् सदैव अनंत है शिवम्!


त्रिनेत्र है प्रचंड शिवम् सदैव अनंत है शिवम्!

भुजंग गला है शोभता सदैव अनंत है शिवम्!


विष है कंठ में घोलते सदैव अनंत है शिवम्!

खाल वस्त्र में है शोभते सदैव अनंत है शिवम्!


भुजा में छवि नाग की सदैव अनंत है शिवम्!

त्रिशूल में प्रखर रक्षिता सदैव अनंत है शिवम्!


जटा लटा में डमरू बाजते सदैव अनंत है शिवम्!

एकांत साधना में है डूबते सदैव अनंत है शिवम्!


शरण में है देव विराजते सदैव अनंत है शिवम्!

करते असुरों का संहार भी सदैव अनंत है शिवम्!


प्रबल प्रलय करें शिवम् सदैव अनंत है शिवम्!

मानव भाव सागर में है डूबते सदैव अनंत है शिवम्...!!!

सदैव अनंत है शिवम् | Special Mahashivratri Hindi Poetry Written By Priya Pandey

Vrshabh Sawar Shiv Shivam Sadaiv Anant Hai Shivam ! 

Unche Sawar Parvat Shivam Sadaiv Anant Hai Shivam ! 


Trinetra Hai Prachand Shivam Sadaiv Anant Hai Shivam !

Bhujang Gala Hai Shobhta Sadaiv Anant Hai Shivam ! 


Vish Hai Kanth Mein Gholate Sadaiv Anant Hai Shivam !

Khaal Vastra Mein Hai Shobhte Sadaiv Anant Hai Shivam ! 


Bhuja Mein Chavi Naag Ki Sadaiv Anant Hai Shivam !

Trishool Mein Prakhar Rakshita Sadaiv Anant Hai Shivam ! 


Jata Lata Mein Damroo Bajate Sadaiv Anant Hai Shivam !

Ekant Sadhna Mein Hai Dubate Sadaiv Anant Hai Shivam ! 


Shran Mein Hai Dev Virajate Sadaiv Anant Hai Shivam !

Karte Asuron Ka Sanhaar Bhi Sadaiv Anant Hai Shivam ! 


Prabal Pralay Kare Shivam Sadaiv Anant Hai Shivam !

Maanav Bhav Sagar Mein Hai Dubate Sadaiv Anant Hai Shivam...!!!


Also Read This Poetry :