रूढ़िवादी प्रथा

दुर्गति के इतिहास को अब वर्तमान में नष्ट करते है,
सीमाओं को लांघ कर बेड़ियों की प्रथा ज़ब्त करते है,
चलो ज़हन में बैठी रूढ़िवादी प्रथा को अब वर्तमान में नष्ट करते है !

ढोयी जा रही है जो कुरतियों समाज में ऐसी अनसुलझी कथाओं को नष्ट करते है,
चलो ज़हन में बैठी रूढ़िवादी प्रथा को अब वर्तमान में नष्ट करते है !

भिन्न भिन्न पाबंदियों को प्रथाओं से विच्छेद करते है,
चलो प्रखर भविष्य को प्रथाओं से मुक्त होने का निर्देश देते है !

सामाजिक अनुकूलता से बनायी गयी इन प्रथाओं को अब अभिशापित करते है,
चलो सीमाओं को लांघ कर बेड़ियों की प्रथा को ज़ब्त करते है...!!!

रूढ़िवादी प्रथा Rudhiwadi Pratha Hindi Poetry Written By Priya Pandey Hindi Poem, Poetry, Quotes, काव्य, Hindi Content Writer. हिंदी कहानियां, हिंदी कविताएं, Urdu Shayari, status, बज़्म

Rudhiwadi Pratha

Durgati Ke Itihas Ko Ab Vartman Mein Nasht Karte Hai,
Seemao Ko Langh Kar Bediyo Ki Pratha Zabt Karte Hai,
Chalo Zahan Mein Baithi Rudhiwadi Pratha Ko Ab Vartman Mein Nasht Karte Hai !

Dhoyi Ja Rahi Hai Jo Kuratiyo Samaj Mein Aisi Ansulajhi Kathao Ko Nasht Karte Hai,
Chalo Zahan Mein Baithi Rudhiwadi Pratha Ko Ab Vartman Mein Nasht Karte Hai !

Bhinn Bhinn Pabandiyo Ko Prathao Se Vichhed Karte Hai,
Chalo Prakhar Bhvishya Ko Prathao Se Mukt Hone Ka Nirdesh Dete Hai !

Samajik Anukulata Se Banayi Gayi In Prathao Ko Ab Abhishapit Karte Hai,
Chalo Seemao Ko Langh Kar Bediyo Ki Pratha Ko Zabt Karte Hai...!!!